अमेरिका में कोरोना से बचने के लिए सूरज की किरणों पर चल रहा शोध हुआ लीक

अमेरिका में कोरोना से बचने के लिए सूरज की किरणों पर चल रहा शोध हुआ लीक

ट्रंप की ​भविष्यवाणी पर शुरू हुआ था शोध..

दुनियाभर से कोरोना वायरस के प्रभाव को कम करने के शोध और नुस्खे सामने आ रहे हैं। इस पर अमेरिका की होमलैंड सिक्योरिटी के एक शोध के लीक होने की खबर मिली है। इतना ही नहीं याहू न्यूज इस शोध को छाप भी चुका है। इस शोध में बताया गया है कि सूरज किस प्रकार से कोरोना वायरस के प्रभाव को कम करने में कारगर सिद्ध हो सकता है।

बता दें​ कि इससे पहले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की ओर से भी एक बयान जारी किया गया था। जिसमें उन्होंने एक तरह से भविष्यवाणी करते हुए कहा था कि कोरोना को खत्म करने के लिए अप्रैल की गर्मी काफी है। शायद इसीलिए उन्होंने लॉकडाउन को लेकर ज्यादा भरोसा नहीं दिखाया।

लेकिन उनकी इस बात को होमलैंड सिक्योरिटी ने गंभीरता से लिया। और इस पर रिसर्च करना शुरू कर दिया। याहू न्यूज में छपी खबर की मानें तो प्रारंभिक शोध में यह बात सामने भी आ चुकी है। यदि नमी के साथ सूरज की किरणें मिल जाएं तो ये वायरस को खत्म कर सकती हैं।

धूप की 3 मिनट की तपन से ही वायरस कमजोर पड़ सकता है। और इससे फैलने वाले इंफेक्शन में काफी हद तक कमी हो सकती है। वहीं जानकारों का ये भी कहना है कि सूरज की​ किरण किसी सतह पर ही वायरस को मार सकती है। कोरोना से संक्रमित मामलों को कम नहीं कर सकती।

भारत के लिए उपयोगी :

बता दें कि शोध में सूर्य की कृत्रिम किरणों का इस्तेमाल किया गया है। हालांकि यह शोध अभी अपने निष्कर्ष पर नहीं पहुंच पाया है। लेकिन इसने भारत जैसे देशों के लिए एक आशा की किरण जरूर दे दी है। यहां आने वाली मई-जून की गर्मी कोरोना से बचाने में खास बन सकती हैं। वैसे शोध के मुताबिक 0.26 प्रतिशत ब्लीच के साथ 70 परसेंट अल्कोहल के मिश्रण से भी वायरस मर सकता है।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *