आखिर क्यों दुनिया के कुछ देश डेटा चोरी करने में लगे हैं?

आखिर क्यों दुनिया के कुछ देश डेटा चोरी करने में लगे हैं?

– इस चोरी के सिमटम्स कोरोना जैसे, जानें कैसे..

कहते हैं दुनिया में शासक नहीं, उनके विचार राज करते हैं। और आज के युग में हमारे विचार हमारे डेटा में निहित हैं। इसलिए हरेक देश ज्यादा से ज्यादा लोगों का डेटा हासिल करने की होड में लगा हुआ है। चाहे वह अमेरिका हो या जापान हो या फिर चीन। इसीलिए आए दिन पर्सनल डाटा के चोरी होने की खबरें मिलती रहती हैं।

सिमटम्स कोरोना जैसे :

ये डेटा चोरी की बीमारी भी कोरोना वायरस की तरह ही है। क्योंकि शुरुआत में आपको पता नहीं होता कि कब कौन आपके डेटा पर नजर रखे हुए है? और कौन उसे चोरी कर रहा है? जब तक उसके द्वारा हुई हानि आपके सामने नहीं आ जाती। इसलिए आपको इस तकनीकि युग में बेहद सतर्क रहने की आवश्यकता है। इससे बचने के लिए किसी तरह के क्वॉरेंटाइन यानि गजेट्स का इस्तेमाल बंद करने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। बशर्ते आप थोड़ी सी भी सावधानी बरतना शुरू कर दें तो।

जी हां, आजकल बहुत सारी लालची एप्स आपको मुफ्त में एंटरटेन करने के माध्यम से लुभाती हैं। और आप आसानी से उन्हें खुद को सौंप देते हैं। क्योंकि जब तक आप उसमें अलाउ नहीं करेंगे तब तक वह आपको प्रवेश नहीं करने देंगे। इसलिए हमेशा अपने मोबाइल या अन्य किसी भी गजेट्स में आप सीमित और भरोसेमंद एप्स का ही प्रयोग करें। लालची एप्स से दूरी बनाकर रखें।

क्या हैं लालची एप्स :

सोशल मार्केट में वैसे तो सैकड़ों लालची एप्स हैं। लेकिन उनमें से कुछ ऐसी हैं जिनके चंगुल में आप आसानी से आ जाते हैं। बड़ी बात ये है कि ये एप्स आपसे अलाउ की परमिशन भी नहीं मांगती। ये सीधे आपके अकाउंट से जुड़ती हैं, चाहे वह फेसबुक हो अथवा जीमेल अकाउंट। और आसानी से आपके डेटा को देख लेती हैं।

कैसे करती हैं काम :

ये एप्स दो तरह से काम करती हैं। इनमें पहली एप्स वो हैं जो आपको घर बैठे बिठाए भविष्य में करोड़पति और जगुआर/फरारी का मालिक बताती हैं। साथ ही आपकी बॉलीवुड के हीरो हीरोइन से तुलना करती हैं। एक क्लिक में आपको कटरीना और आलियाभट्ट के जैसे बता देती हैं। इनमें आजकल राम और सीता से तुलना खूब देखने को मिल रही है। ये सब होता है आप ही के डेटा के आधार पर। जी हां, आपके द्वारा सोशल मीडिया पर किए गए पसंद नापसंद की तुलना कर ये एप्प कुछ ही सेकंड आपके मनोनुरूप परिणाम शो कर देते हैं।

खतरनाक इनबिल्ट एप :

इनका दूसरा प्रकार होता है जो आपको एक ही एप के भीतर सभी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म को उपलब्ध करवाते हैं। यानि इंस्टाग्राम, फेसबुक और व्हाट्सएप जैसी कई एप्स इनबिल्ट होती हैं। ये आपको फोन में बढ़ती हुई मेमोरी से निजात का लालच प्रदान करते हैं। क्योंकि फोन में स्टोरेज की समस्या हर किसी को होती है।

भले कितनी जीबी की क्षमता वाला फोन क्यों न हो। ये एप्स दावा करती हैं कि इनबिल्ट एप्स की मेमोरी का भार ये आपके फोन पर नहीं पड़ने देतीं। साथ ही सुरक्षित होने की बात भी करती हैं। लेकिन इस संबंध में फेसबुक की ओर से किसी भी अन्य एप प्लेटफॉर्म्स को ऑथराइज नहीं किया गया है।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *