किसान कर्फ्यू से पहले किसानों ने कहां-कहां रोकी ट्रेनें, क्या है आगे की रणनीति जानें

किसान कर्फ्यू से पहले किसानों ने कहां-कहां रोकी ट्रेनें, क्या है आगे की रणनीति जानें

किसान संगठनों ने कल भारत बंद का ऐलान किया है। आक्रोश इतना है कि 24 सितंबर से ही देशभर में कई जगह ट्रेनों के पहिए जाम कर दिए हैं। किसान पटरियों पर बैठ चुके हैं। ऐसे में रेलवे की ओर से कई ट्रेनों को रद्द कर दिया है। इनमें यात्री ट्रेनों के अलावा कई पार्सल ट्रेनें भी शामिल हैं। बता दें कि पिछले कई दिनों से नए ‘किसान बिल’ के विरोध में किसान जगह-जगह धरना प्रदर्शन कर रहे हैं। अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति की ओर से 24 से 26 सितंबर तक देशभर में ‘रेल रोको’ आंदोलन का ऐलान किया गया है। इसी क्रम में आज पंजाब के किसान कई ट्रैकों पर कब्जा कर बैठ गए।

कल देश भर में होगा चक्का जाम :

वहीं 25 सितंबर को भारतीय किसान यूनियन ने ‘भारत बंद’ बुलाया है। हाल में सरकार ने संसद में जो 3 बिल पारित करवाए हैं। उन्हीं बिलों के विरोध में किसान सड़क हैं। जबकि सरकार का कहना है कि ये सभी बिल किसानों के फायदे के लिए ही हैं। मगर किसान इन्हें अपनी बदहाली की शुरुआत मान रहे हैं। इन बिलों को लेकर सबसे अधिक विरोध पंजाब और हरियाणा राज्य में देखने को मिल रहा है। इसके अलावा अब ​हरियाणा से लगते राजस्थानी इलाकों में भी ये आंदोलन जोर पकड़ने लगा है। कल देशभर के करीब 250 से भी अधिक किसान संगठन चक्का जाम करेंगे।

रेलवे ने इन ट्रेनों के बदले रूट :

किसानों के प्रदर्शन को देखते हुए रेलवे ने कई ट्रेनों के रूट्स में बदलाव किया है तो वहीं कई ट्रेनें रद्द भी करनी पड़ी है। इस बात की जानकारी रेलवे ने अपने ट्विटर के माध्यम से साझा करते हुए एक सूची भी जारी की है। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो 3 दिन के ​लिए करीब 34 ट्रेनों को शॉर्ट टर्मिनेट किया है। इनमें 26 यात्री एवं 8 पार्सल ट्रेनें शामिल हैं।

ये हैं वो विधेयक जिनका हो रहा है विरोध :

पहला — आवश्यक वस्तु (संशोधन) विधेयक, 2020
दूसरा — कृषि उत्पादन व्यापार और वाणिज्य (संवर्धन और सुविधा) विधेयक 2020
तीसरा — मूल्य आश्वासन पर किसान (बंदोबस्ती और सुरक्षा) समझौता और कृषि सेवा बिल, 2020

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *