क्या है RBI की मॉनेटरी पॉलिसी? बैंक लोन मंहगे होंगे या सस्ते? क्या बोले RBI गवर्नर, पढ़िए

क्या है RBI की मॉनेटरी पॉलिसी? बैंक लोन मंहगे होंगे या सस्ते? क्या बोले RBI गवर्नर, पढ़िए

RBI. आरबीआई ने आज शुक्रवार 5 फरवरी को अगले दो महीनों की मॉनेटरी पॉलिसी Monetary Policy यानी मौद्रिक नीति जारी की। इस पॉलिसी में आरबीआई RBI की ओर से न तो रेपो-रेट Repo Rate को बढ़ाया गया और न ही रिवर्स रेपो-रेट में किसी तरह की कोई बढ़ोतरी की। इसके अलावा आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास Shaktikanta Das ने कई महत्वपूर्ण बातें कहीं, जो आज आपको जान लेनी चाहिए।

क्या है मॉनेटरी पॉलिसी?

आरबीआई गवर्नर RBI Governor की ओर से जारी की गई मॉनेटरी पॉलिसी पर बात करें उससे पहले आपको ये जानना जरूरी है कि आखिर ये पॉलिसी है क्या? आपको बता दें कि मॉनेटरी पॉलिसी कमेटी MPC ही वह समिति है जो देश की मौद्रिक नीति को लेकर निर्णय करती है। इस कमेटी में कुल 6 सदस्य होते हैं। इन 6 सदस्यों में 3 सदस्य सरकार के और बाकी 3 सदस्य बाहर के लोग होते हैं।

क्या बोले गवर्नर?

– आरबीआई गवर्नर ने कहा कि आगे दो माह तक रेपो रेट 4 प्रतिशत और रिवर्स रेपो रेट 3.35 प्रतिशत ही रहने वाली है। इसमें किसी प्रकार को कोई बदलाव नहीं किया गया है।

– गवर्नर ने 1 फरवरी के आम बजट को स्वास्थ्य, इनोवेशन और अनुसंधान को मजबूत करने वाला बताया।


– शक्तिकांत दास ने ‘उपभोक्ता मूल्य सूचकांक’ का हवाला देते हुए महंगाई घटने की बात कही।

– उन्होंने कहा कि वित्त वर्ष 2022 की GDP जीडीपी ग्रोथ 10.5 प्रतिशत तक रह सकती है।


– अहम बात ये कि अब रिटेल इंवेस्टर्स भी सीधे सरकारी प्रतिभूतियों यानी जी-सेक बॉन्ड्स को खरीद सकेंगे। जबकि पहले ऐसा नहीं था।

– गवर्नर ने कहा कि टार्गेटेड लॉन्ग टर्म रेपो ऑपरेशंस योजना के माध्यम से एनबीएफसी, बैंकों से धन प्राप्त कर सकते हैं।

निष्कर्ष : इस पॉलिसी के चलते बैंक लोन्स की दरों में किसी प्रकार का बदलाव नहीं होने वाला है।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *