यूपी शिक्षक भर्ती मामले में आए कई नए मोड़, सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक, प्रियंका ने बताया यूपी का व्यापम घोटाला

यूपी शिक्षक भर्ती मामले में आए कई नए मोड़, सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक, प्रियंका ने बताया यूपी का व्यापम घोटाला

उत्तर प्रदेश शिक्षक भर्ती कटऑफ मामले में सुप्रीम कोर्ट ने आदेश जारी करते हुए फिलहाल काउं​सलिंग पर रोक लगा दी है। साथ ही यूपी सरकार को 37,339 पदों को खाली रखने का भी आदेश दिया है। आगे केस की सुनवाई के लिए कोर्ट ने 14 जुलाई की तारीख मुकर्रर की है। बता दें कि यूपी में 69000 शिक्षकों की यह भर्ती प्रक्रिया दिसंबर 2018 से चल रही है, जो कि पूरा होने का नाम नहीं ले रही।

ये है मामला :

69000 पदों पर शिक्षकों की भर्ती निकाली गई थी, जिसमें परीक्षा के उपरांत शिक्षा विभाग ने 65—60 परसेंटेज कटऑफ के रूप में तय की गई। यानि सामान्य वर्ग के लिए 65 परसेंट कटऑफ मार्क्स अर्थात 150 अंकों के पेपर में पास होने के​ लिए 97 अंक और आरक्षित वर्ग के लिए 60 परसेंट यानि 90 अंक लाने अनिवार्य थे। और इसी आधार पर 8 ​हजार 18 शिक्षा मित्र पास हुए। लेकिन मामला कोर्ट की भेंट चढ़ गया।

ये था कारण :

69 हजार शिक्षकों की भर्ती से पहले उत्तर प्रदेश में 68,500 पदों के लिए सहायक अध्यापकों की भर्ती परीक्षा हुई थी, जिसमें पास होने के लिए आरक्षित वर्ग के लिए 40 और सामान्य वर्ग के 45 प्रतिशत की कटऑफ तय की गई थी। इसी को आधार बनाकर कोर्ट में शिक्षा मित्रों की ओर से करीब 600 याचिकाएं दायर की गईं।

कोर्ट ने इन सभी याचिकाओं को खारिज करते हुए सरकार के फैसले को सही मानते हुए 65—60 कटऑफ के आधार पर ही रिजल्ट जारी करने के आदेश ​जारी किए। और भर्ती प्रक्रिया को जल्द पूरी करने की बात भी कही।
लेकिन इसी दौरान काउंसलिंग के समय ही कुछ छात्रों ने 4 प्रश्न गलत होने को लेकर सुप्रीम कोर्ट में फिर से याचिका लगा दी। जिस पर सुप्रीम कोर्ट ने अगली सुनवाई तक काउंसलिंग पर रोक लगा दी।

यूं चला पूरा घटनाक्रम :

1 दिसंबर 2018 को 69 हजार शिक्षक भर्ती का आदेश।

6 जनवरी 2019 को लिखित परीक्षा करवाई गई।

7 जनवरी को आर्हता अंक तय हुए यानि कटऑफ परसेंटेज निकाल फाइनल कर दी। जिसमें 600 से ज्यादा याचि​काएं दायर हुईं।

30 मार्च 2020 को हाईकोर्ट ने फैसले को सुरक्षित रख लिया।

6 मई को 60-65 परसेंट कटऑफ के पक्ष में फैसला सुनाया गया।

12 मई को परीक्षा का रिजल्ट जारी कर दिया।

13 मई को भर्ती के लिए टाइमटेबल निकाल दिया।

18 मई से शिक्षकों के आवेदन लेना शुरू किया।

3 जून से काउंसलिंग भी शुरू हो गई थी, लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने फिलहाल इस पर रोक लगा दी है।

प्रियंका ने घोटाले तुलना व्यापम से की :

इस मामले को लेकर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने योगी सरकार पर बड़ा हमला बोला है। उन्होंने ट्वीट के माध्यम से लिखा है कि 69 हजार शिक्षक भर्ती घोटाला उत्तर प्रदेश का व्यापम घोटाला है। इस मामले में गड़बड़ी के तथ्य सामान्य नहीं हैं। डायरियों में स्टूडेंट्स के नाम, पैसे का लेनदेन, परीक्षा केंद्रों में बड़ी हेरफेर, इन गड़बड़ियों में रैकेट का शामिल होना। ये सब दर्शाता है कि इसके तार काफी जगहों पर जुड़े हैं।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *