ट्रेन को जाना था गोरखपुर,पहुंचा दिया राउरकेला, श्रमिक ट्रेन का अजीब मामला

ट्रेन को जाना था गोरखपुर,पहुंचा दिया राउरकेला, श्रमिक ट्रेन का अजीब मामला

– मजदूरों पर डबल मार, रेलवे ने दी सफाई..

‘आसमान से टपका और खजूर पर जा लटका’ कुछ ऐसा ही मामला सामने आया है एक श्रमिक स्पेशल ट्रेन का। दरअसल हुआ यूं कि ये ट्रेन मुंबई के वसई से श्रमिकों को लेकर गोरखपुर यूपी के लिए रवाना हुई थी, लेकिन वह ओडिशा के राउरकेला पहुंच गई। इसको लेकर एक श्रमिक ने विडियो के जरिए अपनी परेशानी बताते हुए कहा कि बड़ी मुश्किल से ट्रेन मिली थी, लेकिन उसने घर पहुंचानें ​बजाय और उल्टा फंसा के रख दिया। अब यहां से कैसे और कहां जाएं कुछ समझ नहीं आ रहा है।

श्रमिकों पर डबल मार :

मुंबई से राउरकेला की दूरी करीब 1555 किमी. है। वहीं मुंबई से गोरखपुर की बात करें तो ये दूरी करीब 1682 किमी पड़ती है। ज​बकि राउरकेला से गोरखपुर करीब 733 किमी पड़ता है। ऐसे में इन मजदूरों को अब ये 733 किमी को सफर और तय करना होगा। उसके बाद ही अपने राज्य पहुंच पाएंगे। यदि रेलवे की ओर ऐसा न किया होता तो शायद ये लोग इतने में गोरखपुर पहुंच भी गए होते।

रेलवे ने बचाव में कहा :

इस घटना के तूल पकड़ते ही रेलवे ने बयान जारी कर कहा है कि यह घटना भूलवश नहीं हुई है। इस कठिन परिस्थिति ​में रेलवे के लिए ट्रेनों का संचालन करना एक चुनौतीपूर्ण काम है। एक ही ट्रैक पर अधिक ट्रेनें संचालित होने के कारण हाल ही में कुछ ट्रेनों के रूट में बदलाव किया गया ​था। ​अभी सारे ट्रैक क्लियर हैं और सभी ट्रेनें ठीक से चल रही हैं।

सोशल मीडिया पर बना मजाक :

इस घटना के सोशल मीडिया पर आते ही लोगों ने इस घटना को भी ट्रोल करना शुरू कर दिया है। लोग लिख रहे हैं कि जाना था जापान और चीन पहुंचा दिया। कांग्रेस के नेता आरपीएन सिंह ने इस मामले पर ट्वीट करते हुए लिखा है कि गोरखपुर जाने के लिए निकली श्रमिक ट्रेन राउरकेला ओडिशा पहुंच गई, क्योंकि ड्राइवर रास्ता भूल गया था।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *