जिला परिषद् एवं पंचायत समिति सदस्यों के प्रथम चरण का प्रचार थमा, अब इस दिन होगी वोटिंग

जिला परिषद् एवं पंचायत समिति सदस्यों के प्रथम चरण का प्रचार थमा, अब इस दिन होगी वोटिंग

Jila Parishad and Panchayat samiti chunav 2020: प्रदेश के 21 जिलों में जिला परिषद् और पंचायत समिति सदस्यों के प्रथम चरण के लिए चुनाव प्रचार शनिवार सायं 5 बजे थम गया। 21 जिलों की 65 पंचायत समितियों के 1,310 सदस्यों और उनसे संबंधित जिला परिषद् सदस्यों के लिए मतदान होना है। इसके लिए प्रथम चरण की वोटिंग 23 नवंबर यानी सोमवार को होनी है। वोटिंग प्रातः साढ़े 7 से शाम 5 बजे तक होगी।

इन पर रहेगी पाबंदी :

चुनाव आयुक्त पीएस मेहरा ने बताया कि मतदान समाप्त होने के समय से 48 घंटे पूर्व की अवधि आज सायं 5 बजे से राजनीतिक दल अथवा प्रत्याशियों द्वारा सार्वजनिक सभा आयोजित करने, जुलूस निकालने, सिनेमा, दूरदर्शन, इलेक्ट्रॉनिक एवं सोशल मीडिया के माध्यम से चुनाव प्रचार करने पर पूर्ण पाबंदी रहेगी। इसके साथ ही संगीात-समारोह, नाट्य-अभिनय अथवा अन्य कोई मनोरंजन के द्वारा भी चुनाव प्रचार नहीं किया जा सकेगा।

इन जिलों में होने हैं चुनाव :

बता दें कि अजमेर, बांसवाड़ा, बाड़मेर, भीलवाड़ा, बीकानेर, बूंदी, चित्तौड़गढ़, चूरू, डूंगरपुर, हनुमानगढ़, जैसलमेर, जालौर, झालावाड़, झुझूंनूं, नागौर, पाली, प्रतापगढ़, राजसमंद, सीकर, टोंक, और उदयपुर जिले की 65 पंचायत समितियों के 1310 सदस्यों और उनसे संबंधित जिला परिषद सदस्यों के लिए मतदान होना है। ऐसे में प्रथम चरण में लगभग 25 हजार ईवीएम मशीनों का इस्तेमाल किया जाएगा, साथ ही 50 हजार से अधिक कार्मिकों को इसकी जिम्मेदारी सौंपी गई है।

मेहरा ने बताया कि प्रथम चरण में 10,131 मतदान केंद्रों पर 72 लाख 38 हजार 66 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग कर सकेंगे। इसमें 37 लाख 47 हजार 347 पुरुष और 34 लाख 90 हजार 696 महिला एवं 23 अन्य मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल कर सकेंगे। उन्होंने बताया कि सभी चरणों के मतदान सम्पन्न होने के बाद 8 दिसंबर को मतगणना करवाई जाएगी।

कोरोना गाइडलाइंस का रखें ध्यान :

चुनाव आयुक्त ने प्रत्याशियों और उनके समर्थकों से जनसंपर्क के दौरान कोरोना की गाइडलाइंस का पालन करने की अपील की है। इस दौरान उम्मीदवार व उनके समर्थक मास्क लगाकर बाहर निकलें। सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ध्यान रखें और प्रचार के दौरान मतदाताओं के पैर छूने, हाथ मिलाने, गले मिलने से बचें। उन्होंने बताया कि मतदान दिवस पर भी सोशल डिस्टेंसिंग रखी जाए और कोरोना प्रोटोकॉल की कड़ाई से पालना की जाए।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *