राजस्थान: कटारिया ने भरे सदन में धारीवाल से कहा ‘क्या चाहता है तू..?’

राजस्थान: कटारिया ने भरे सदन में धारीवाल से कहा ‘क्या चाहता है तू..?’

धारीवाल बोले मोदी ने 90 हजार फोन टैप कराए..

जयपुर. विधानसभा में इन दिनों 2 ही मुद्दे चर्चा में हैं। पहला ‘रेप’ का और दूसरा ‘टेप’ का। इन दोनों ही मुद्दों पर पिछले कुछ दिनों से विधानसभा में जोरदार हंगामा मचा हुआ है। आज बुधवार को भी यही मुद्दे हावी रहे। इतना ही नहीं हंगामे के दौरान जमकर तू—तू मैं—मैं भी देखने को मिली। जिसमें बीजेपी के वरिष्ठ नेता को तू तड़ाक की भाषा में बहस करते देखा गया। आ​खिर में स्पीकर के समझाने पर भी जब सदस्य नहीं बैठे तो विधानसभा को आधे घंटे के लिए स्थगित करना पड़ा।

पूनिया जी आप अभी नए हो..

सदन में फोन टैपिंग के मामले पर यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल ने कहा कि ‘विपक्ष केवल एक काम करे, गजेंद्र सिंह का वॉयस सैंपल दिलवा दे। दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा। आगे धारीवाल बोले कि पूनिया जी आप अभी नए हो, बहुत कठिन है डगर पनघट की। अभी आप मध्यावधि चुनाव की बात कर रहे हो, कहीं आप मध्य अवधि में नहीं निपट जाओ.. भटको मत।

इनकी एक चिंगारी विपक्ष को ले डूबेगी

धारीवाल ने कहा कि आप हमें जीने नहीं दोगे और जनता की जिद है कि वह हमें मरने नहीं देंगे। बच्चे-बच्चे की जुबान पर है कि लोकतंत्र की रक्षा अगर हम नहीं कर पाए तो कोई नहीं कर पाएगा। उन्होंने कहा कि अगर गजेंद्र सिंह पाक साफ थे तो उन्होंने अपना वॉइस सैंपल क्यों नहीं दिया। 3 दिन तक SOG के अधिकारी उनके दिल्ली में घर और दफ्तर के चक्कर काटते रहे। धारीवाल ने कालीचरण सराफ को दिया धन्यवाद देते हुए कहा कि उनके एक सवाल से जो चिंगारी उठी है, वह विपक्ष को ले डूबेगी।

कटारिया को आया गुस्सा

इसके बाद उप नेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ ने वॉयस सैंपल को लेकर कहा कि आपके बगल में बैठे हैं पहले उनकी वॉयस टेस्ट करवा लो आप। इस पर धारीवाल ने कहा कि ये धंधे हम नहीं करते राठौड़ साहब। एक कागज दिखाते हुए बोले कि 90 हजार टेलिफोन टैप हुए हैं मोदी जी के द्वारा। इस पर कटारिया ने कहा कि कोई एक आरोप सिद्ध करके बताए। इतना ही नहीं आगे कटारिया ने धारीवाल से कहा कि क्या कहना चाहता है तू…क्या चाहता तू..! इसके बाद हंगामा बढ़ता चला गया। सभी बीजेपी विधायक बेल में आकर खड़े हो गए। विधानसभा को आधे घंटे के लिए स्थगित करना पड़ा।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *