राजस्थान में भरतपुर के बाद अलवर में विस्फोट, भरतपुर 33 जिलों में ऐसे पहुंचा तीसरे नंबर पर

राजस्थान में भरतपुर के बाद अलवर में विस्फोट, भरतपुर 33 जिलों में ऐसे पहुंचा तीसरे नंबर पर

– जनता सड़कों पर सरकार अभी भी विडियो कॉ​न्फ्रेंसिंग पर चल रही..

लॉकडाउन के बाद देश ही नहीं प्रदेश में भी कोरोना के मरीजों का आंकड़ा तेजी से बढ़ा है। जहां देश में 1 दिन के भीतर 10 हजार कोरोना मरीज तक सामने आ रहे हैं। वहीं प्रदेश में भी हर दिन नए मरीजों का आंकड़ा 200 के पार जा रहा है। इसी के चलते प्रदेश में कोरोना की संख्या के मामले 10 हजार 876 पर पहुंच गए है।

गांव में गर्भवती महिलाओं तक पहुंचा :

प्रदेश में भरतपुर के बाद आज अलवर में कोरोना का जबरदस्त विस्फोट देखने को मिला। यहां पहली बार इतनी संख्या में एक साथ लोग पॉजिटिव आए हैं। साथ ही भरतपुर में आज भी कोरोना रोगियों की संख्या पर लगाम नहीं लग पाई। कई स्तर पर प्रशासन तो कहीं आमजन की लापरवाही देखने को​ मिली। यही कारण रहा कि गांव में गर्भवती महिलाओं तक कोरोना अपनी पहुंच बना पाया। ऐसे में हालात अब आए दिन खराब होते जा रहे हैं। नतीजा ये है कि पिछले पांच दिनों के भीतर ही भरतपुर जिला कोरोना मरीजों की संख्या के मामले में 33 जिलों में नंबर 3 पर आ गया है। हालांकि फिर भी चिकित्सा मंत्री का कहना है कि बढ़ती संख्या से चिंता की कोई बात नहीं है।

सरकार चलाएगी विशेष अभियान :

राजस्थान ही नहीं ​बल्कि देश में शायद ही ऐसा कोई व्यक्ति हो जो कोरोना महामारी से परिचित न हो। ऐसे में केंद्र सरकार से लेकर प्रदेश सरकारें कोरोना को लेकर लोगों को जागरूक करती आई हैं। वहीं राजस्थान सरकार ने फिर से एक विशेष अभियान के माध्यम से कोरोना के बारे में लोगों को जागरूक करने का बीड़ा उठाया है। वहीं कई बुद्धिजीवियों का ये भी कहना है कि सरकार इस पैसे को लोगों की कोरोना जांच में खर्च करे तो बेहतर है।

आज सोमवार को प्रदेश में 277 मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। आज अलवर में सर्वाधिक 67 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। वहीं भरतपुर कोरोना मरीजों के मामले में आज भी दूसरे नंबर पर रहा। यहां से 60 मामले सामने आए। इसके अलावा राजधानी जयपुर से 34 और जोधपुर से 36 मामले आए। जयपुर में सेंट्रल जेल से आज भी नए मामले सामने आए। वहीं रामगंज से भी नए केस दर्ज किए गए।

दानवीरों ने कोरोना खजाने में दिए 5 करोड़ :

मुख्यमंत्री निवास पर विभिन्न दानदाताओं और संस्थाओं की ओर से 5 करोड़ 19 लाख 53 हजार 630 रूपए के चैक ‘मुख्यमंत्री सहायता कोष कोविड-19 राहत कोष’ के लिए भेंट किए गए। उच्च शिक्षा राज्यमंत्री भंवर सिंह भाटी ने राजकीय डूंगर महाविद्यालय, बीकानेर की बचत राशि में 5 करोड़ रूपए और बीकानेर के अन्य दानदाताओं की ओर से 44 हजार की राशि के चैक कोविड-19 राहत कोष के लिए भेंट किये।

जेएनयू जोधपुर के कुलपति प्रो. पीसी त्रिवेदी ने विश्वविद्यालय के सेवानिवृत शैक्षणिक कार्मिकों द्वारा दिये गये स्वैच्छिक अंशदान की राशि 16 लाख 27 हजार 530 रूपए के डिमांड ड्राफ्ट कोविड-19 राहत कोष के लिए दिये। पूर्व विधायक भगवान सहाय सैनी ने जयपुर जिले के चौमूं क्षेत्र के विभिन्न दानदाताओं की तरफ से 2 लाख 82 हजार 100 रुपए राशि के चैक भी कोविड-19 राहत कोष के लिए भेंट किये। मुख्यमंत्री ने सभी दानदाताओं, भामाशाहों और संस्थाओं को धन्यवाद दिया।

जयपुर में आज 34 :

जानें प्रदेश में कहां कितने पॉजिटिव :

  • अजमेर — 368
  • अलवर — 150
  • बांसवाड़ा — 89
  • बारां — 60
  • बाड़मेर — 106
  • भरतपुर — 732
  • भीलवाड़ा — 176
  • बीकानेर — 112
  • बूंदी — 07
  • चित्तौड़गढ़ — 198
  • चूरू — 154
  • दौसा — 69
  • धौलपुर — 69
  • डूंगरपुर — 380
  • गंगानगर — 09
  • हनुमानगढ़ — 30
  • जयपुर — 2260
  • जैसलमेर — 74
  • जालौर — 170
  • झालावाड़ — 329
  • झुंझुनूं — 163
  • जोधपुर — 1879
  • करौली — 29
  • कोटा — 524
  • नागौर — 503
  • पाली — 602
  • प्रतापगढ़ — 14
  • राजसमंद — 162
  • सवाईमाधोपुर — 44
  • सीकर — 291
  • सिरोही — 210
  • टोंक — 175
  • उदयपुर — 587
Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *