कोटा में बढ़ेगा अब टूरिस्टों का कोटा, जानें क्यों..!

कोटा में बढ़ेगा अब टूरिस्टों का कोटा, जानें क्यों..!

कोटा. कोचिंग हब के नाम से मशहूर कोटा अब टूरिस्ट हब बनने की तैयारी में है। सेवन वंडर्स से देश-विदेश के लोगों को अपनी ओर आकर्षित करने के बाद अब नगर विकास न्यास की तरफ से मुगल गार्डन की तर्ज पर एक सिटी पार्क और चंबल हेरिटेज रिवर फ्रंट बनाए जाने की योजना है। इससे शहर की अर्थव्यवस्था तो बेहतर होगी ही साथ में यहां आने वाले टूरिस्टों का कोटा भी बढ़ेगा। प्रोजेक्ट की ​डीपीआर बनने के साथ ही इनके मॉडल भी तैयार कर लिए गए हैं।

पर्यटकों को लुभाने की तैयारी :

शहर में तैयार होने वाला सिटी पार्क मुगल गार्डन की तर्ज पर बनाया जाएगा। मंत्री शांति धारीवाल ने कहा कि कोटा में अभी केवल सालाना 4 हजार करीब पर्यटक आते हैं, जो अन्य शहरों की तुलना में काफी कम हैं। आज कोटा की अर्थव्यवस्था यहां के कोचिंग संस्थानों पर टिकी हुई है। ऐसे में यहां कोटा सिटी पार्क और चंबल के हेरिटेज रिवरफ्रंट बनने से पर्यटकों की संख्या में काफी इजाफा होगा।

से कैनाल रहेगी खास :

कोटा सिटी पार्क में ही करीब डेढ़ किलोमीटर लंबी एक आर्टिफीशियल कैनाल बनाई जाएगी जो कि पर्यटकों के लिए खास होगी। क्योंकि इसके अंदर बोटिंग भी की जा सकेगी। यह कैनाल 10 से 18 मीटर चौड़ी होगी। पार्क में हार्ड सर्फेस और सॉफ्ट सरफेस दोनों के ​ही ट्रैक बनाए जाएंगे। लोगों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए यहां मयूर पार्क, फ्लावर रोड, साइकिल ट्रैक, बॉटनिकल पार्क, वाटर कैनाल, फूड़ अरोमा, आर्ट हिल के साथ तीन तरीके वॉकिंग ट्रैक शामिल होंगे।

ये आएगी लागत :

इन दोनों प्रोजेक्ट में करीब 580 करोड़ की लागत आएगी। इसमें 71 एकड़ जमीन पर करीब 80 करोड़ की लागत से ‘कोटा सिटी पार्क’ बनाया जाएगा। इस सिटी पार्क में करीब 39 तरीके के काम किए जाएंगे। यहां कोचिंग स्टूडेंट को स्ट्रेस फ्री रखने के लिए कई सुविधाएं रखी जाएंगी। यहां हरियाली के लेवल को भी बढ़ाकर 74 फीसदी करने का प्लान है। इसके 14 फीसदी एरिया में वाटर बॉडी और 12 फीसदी एरिया में सड़क या हार्ड सर्फेस का निर्माण किया जाना है।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *