बिहार चुनाव: नीतीश कुमार 20 साल में 6 बार शपथ ग्रहण करने वाले पहले मुख्यमंत्री, पढ़ें कब कैसे?

बिहार चुनाव: नीतीश कुमार 20 साल में 6 बार शपथ ग्रहण करने वाले पहले मुख्यमंत्री, पढ़ें कब कैसे?

Bihar Election Special: बिहार में चुनावी सरगर्मियां तेज हो चली हैं। केंद्रीय गृ​ह मंत्रालय की ओर से भी शनिवार को जारी की गई अनलॉक 4 की गाइडलाइंस में चुनावी रैलियों में संख्याबल को लेकर राहत दी गई है। भले ही चुनाव आयोग ने अभी तारीखों का ऐलान नहीं किया हो मगर पार्टियों की ओर से चुनावी तैयारियों में कोई कसर देखने को नहीं मिल रही है। अभी तक के आंकड़े बताते हैं कि बिहार में जब भी वोटिंग बढ़ी है, इसका फायदा सत्ता पक्ष को हुआ है। ऐसे में इस बार ये देखना होगा कि क्या वोटिंग में इजाफा होता ​है अथवा कटौती?

पिछले 5 चुनावों की बात करें तो 20 साल में मुख्यमंत्री की कुर्सी पर 3 सीएम बैठे। इनमें नीतीश कुमार, जीतनराम मांझी और राबड़ी देवी का नाम आता है। जिनमें सबसे ज्यादा कार्यकाल नी​तीश कुमार Nitish Kumar का रहा है। इन 20 सालों में पहली शपथ 3 मार्च 2000 को ली थी, लेकिन 7 दिन बाद ही पद छोड़ना पड़ गया और फिर राबड़ी देवी बिहार की मुख्यमंत्री बनीं। इसके बाद दूसरी बार शपथ 24 नवंबर 2005 को ली और न केवल अपना 5 साल का कार्यकाल पूरा किया, बल्कि तीसरी बार मुख्यमंत्री चुने गए।

नीतीश ने तीसरी बार शपथ 26 नवंबर 2010 को ली, लेकिन 2014 में अपने कार्यकाल के करीब साल भर पहले उन्हें पद छोड़ना पड़ा। उनकी जगह जीतन राम मांझी बिहार के मुख्यमंत्री बनाए गए। मगर 10 महीने के बाद फिर से नीतीश अपने पद पर काबिज हो गए और ये चौथी बार की शपथ CM Oath थी जो उन्होंने 22 फरवरी 2015 को ली थी। इसी साल चुनाव होने थे और उसमें फिर से मुख्यमंत्री चुने गए। 20 नवंबर 2015 को उन्होंने 5वीं बार मुख्यमंत्री पद की शपथ ली।

इस बार उनकी सरकार करीब दो ढ़ाई साल ही चल पाई। मगर पुन: सत्ता ​काबिज करने में कामयाब रहे और 27 जुलाई 2017 को छठी बार मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। इस प्रकार 20 सालों में उन्होंने सबसे अधिक बार मुख्यमंत्री पद की शपथ ली।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *