11वीं में पढ़ने वाली ‘जयलक्ष्मी’ अब जाएगी ‘नासा’, जानें क्यों?

11वीं में पढ़ने वाली ‘जयलक्ष्मी’ अब जाएगी ‘नासा’, जानें क्यों?

कहते हैं कि मेहनत, हिम्मत और बुद्धि से हर मुकाम पाया जा सकता है। इसका एक बेहतरीन उदाहरण सामने आया है भारत के तमिलनाडु शहर में रहने वाली के.जयलक्ष्मी का। जिसे नासा की तरफ से 20 मई को नासा स्पेस सेंटर में आमंत्रित किया गया है। उसका सपना है कि वो भारत के पूर्व राष्ट्रपति और वैज्ञानिक अब्दुल कलाम की तरह एक दिन रॉकेट बनाए।

ऐसे मिला मौका :

तमिलनाडु के पुदुकोट्टई गांव में रहने वाली जयलक्ष्मी अधनाक्कोत्तई जिले के एक सरकारी स्कूल में 11वीं कक्षा में साइंस की पढ़ाई कर रही है। जयलक्ष्मी को यह अवसर नासा की ओर से हुए ऑनलाइन एग्जाम से मिला है, जिसमें उसने अपने विज्ञान के प्रति रुचि होने के कारण रजिस्टर किया था। इस परीक्षा के लिए उसने एक महीने की अंग्रेजी की क्लास भी ली थी। नासा की इस ट्रिप से सभी विजेताओं को नासा का पूरा दौरा करने के साथ डिज्नी वर्ल्ड जाने का अवसर भी मिलेगा।

यहां लगाई मदद की गुहार :

लेकिन नासा जाने के लिए उसके पास पैसे नहीं हैं, इसके लिए जयलक्ष्मी ने कलेक्टर से अपनी इस यात्रा के लिए मदद की गुहार लगाई है। दूसरी ओर पासपोर्ट के लिए भी स्कूल और पासपोर्ट ऑफिस ने उसकी मदद की है।

संभालती है घर का जिम्मा :

आपको बता दें​ कि जयलक्ष्मी स्कूल के बाद 8वीं और 9वीं के बच्चों को ट्यूशन पढ़ाती है और उसके बाद काजू बेचकर घर और पढ़ाई का खर्चा निकालती है। जयलक्ष्मी के परिवार में एक छोटा भाई और मानसिक रूप से विकलांग मां है। उसके पिता उनसे अलग रहते हैं और घर खर्च के लिए सिर्फ थोड़ी बहुत राशि भेज पाते हैं। इस कारण घर को संभालने की जिम्मेदारी भी इतनी छोटी सी उम्र में जयलक्ष्मी के कंधों पर टिकी हुई है।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *