इस तरह समझें जयपुर वार्डों के पुनर्गठन का नया गणित

इस तरह समझें जयपुर वार्डों के पुनर्गठन का नया गणित

जयपुर. नगर निगम में अभी तक 91 वार्ड हुआ करते थे। जैसे-जैसे आबादी बढ़ी, उसके हिसाब से विकास में वृद्धि नहीं हो पाई। इस बात को ध्यान में रखते हुए निगम में वार्डों को बढ़ाने का निर्णय लिया गया। और उनकी संख्या 91 से बढ़ाकर 150 कर दी गई। लेकिन फिर भी जनसंख्या हिसाब से वार्ड कम ही लगे। और फिर शहर को बांटा गया दो भागों में और वार्डों की संख्या की गई 250। जिनका हाल ही में पुनर्गठन पूरा कर लिया गया है। इनके खिलाफ जो भी आपत्तियां हैं वो 9 से 20 दिसंबर 2019 तक निगम मुख्यालय और जोन ऑफिस में दर्ज कराई जा सकती हैं।

अब ये 250 वार्ड नगर निगम ‘जयपुर हेरिटेज’ और ‘जयपुर ग्रेटर’ के अंदर आएंगे। इस बार वार्ड के गठन के लिए जनसंख्या को मुख्य आधार के रूप में लिया गया है जिसके अंतर्गत जयपुर हेरिटेज निगम को 100 और जयपुर ग्रेटर नगर निगम को 150 वार्ड निर्धारित किए गए हैं।

जयपुर हेरिटेज निगम के अंदर ये वार्ड रहेंगे :

यूं स​मझिए वार्डों का विवरण –

आमेर विधानसभा क्षेत्र- वार्ड 1 से 4 तक
हवामहल विधानसभा क्षेत्र- वार्ड 5 से 30 तक
सिविल लाइन्स विधानसभा क्षेत्र – वार्ड 31 से 54 तक
किशनपोल विधानसभा क्षेत्र- वार्ड 55 से 75 तक
आदर्श नगर विधानसभा- वार्ड 76 से 100 तक

जयपुर ग्रेटर नगर निगम के अंदर वार्ड :

विद्याधर नगर विधानसभा क्षेत्र- वार्ड 1 से 42 तक
झोटवाड़ा विधानसभा क्षेत्र- वार्ड 43 से 64 तक
सांगानेर विधानसभा क्षेत्र- वार्ड 65 से 103 तक
बगरू विधानसभा क्षेत्र- 104 से 124 तक
मालवीय नगर विधानसभा क्षेत्र- 125 से 150 तक

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *