कैसे एक शख्स बन गया 126 लोगों में कोरोना वायरस का वाहक

कैसे एक शख्स बन गया 126 लोगों में कोरोना वायरस का वाहक

– जब प्रशासन को पता चला तो उड़ गए होश..!

राजस्थान में कोरोना का ​कहर थमने का नाम ही नहीं ले रहा है। आए दिन मामले बढ़ते जा रहे हैं। इन दिनों प्रदेश की राजधानी जयपुर का एक एरिया कोरोना का हॉटस्पॉट बना हुआ है। यहां एक ही शख्स ने 125 से भी ज्यादा लोगों को कोरोना का पॉजिटिव बना दिया। आखिर कैसे यह व्यक्ति कोरोना संक्रमण का वाहक बना, इसे समझने के लिए हमें पीछे चलना होगा।

आपको ज्ञात होगा कि जयपुर में कोरोना पॉजिटिव का पहला मामला इटली के एक नागरिक के रूप में सामने आया था। तारीख थी 02 मार्च। इसके बाद दूसरा मामला भी इटली नागरिक की पत्नी के रूप में मिला। इस तरह से 25 मार्च तक यहां कोरोना सं​क्रमित व्यक्तियों की संख्या केवल 08 थी।

जब प्रशासन के उड़े होश :

26 मार्च को मिली एक पॉजिटिव रिपोर्ट का पता जब प्रशासन को लगा तो उसने प्रशासन के होश उड़ा दिए। यह रिपोर्ट थी ओमान से लौटे 45 वर्षीय एक शख्स की जो 12 मार्च को जयपुर पहुंचा था। हालांकि उस समय दिल्ली एयरपोर्ट पर की गई प्राथमिक जांच में व्यक्ति के अंदर किसी प्रकार के लक्षण सामने नहीं आए थे। इसलिए उसे जाने दिया। जब इस व्यक्ति के जयपुर रामगंज स्थित घर पहुंचने की ​खबर चिकित्सा विभाग को मिली तो उन्होंने व्यक्ति को अगले 14 तक घर पर ही आइसोलेट रहने को कहा।

लेकिन यह शख्स विभाग की सलाह को दरकिनार करते हुए अपने परिजन, मित्र और रिश्तेदारों के संपर्क में आता रहा। कुछ दिन बाद जब तबीयत बिगड़ी तो एसएमएस अस्पताल में जांच के लिए लाया गया। जहां 26 मार्च को रिपोर्ट पॉजिटिव आई, तब तक बहुत देर हो चुकी थी।

जब कर्फ्यू लगाना पड़ा :

प्रशासन ने तुरंत व्यक्ति से इन दिनों मिलने वालों की जानकारी मांगी तो प्रशासन के हाथ पैर फूल गए। क्योंकि यह लिस्ट करीब 200 लोगों तक पहुंच चुकी थी। यह देखते ही तुरंत प्रभाव से इलाके को सेनेटाइज करने का काम शुरू किया गया और हालात को देखते हुए एतिहातन कर्फ्यू लगा दिया गया। एक रिपोर्ट के मुताबिक इन 200 लोगों में से अब तक करीब 126 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आ चुकी है।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *