क्या सच में कोरोना वायरस ठीक हुए व्यक्ति में दोबारा एक्टिवेट हो सकता है?

क्या सच में कोरोना वायरस ठीक हुए व्यक्ति में दोबारा एक्टिवेट हो सकता है?

– साउथ कोरिया में फिर मिले ऐसे नए मामले।

कोरोना को लेकर साउथ कोरिया से आई ये रिपोर्ट आपको फिर से चौंका देगी। जी हां, सवाल ये है कि क्या सच में कोरोना वायरस ठीक हुए व्यक्ति में दोबारा एक्टिवेट हो सकता है? करीब 6 दिन पहले ही साउथ कोरिया में 50 से ज्यादा ऐसे लोग जो कोरोना की बीमारी से पूरी तरह ठीक हो चुके थे।

जिसको सुनकर दुनियाभर में सनसनी फैल गई थी। हालांकि उस वक्त ये कहा गया था, कि फिलहाल वायरस के दोबारा एक्टिव होने की बात कहना अभी सही नहीं होगा। मगर ये जांच का विषय है कि आखिर ये लोग दोबारा पॉजिटिव हुए कैसे?

40 नए मामले :

इसके दो दिन बाद ही फिर से इसी तरह के नए मामले सामने आए। जिनकी संख्या करीब 40 बताई जा रही है। इन केसों को देखकर जो डॉक्टर कोरोना वायरस पर अध्ययन कर रहे हैं। अब तो व​ह भी हैरान हैं। क्योंकि पिछले 6 दिनों में ही ऐसे मरीजों की संख्या 90 के पार जा चुकी है।

कोरिया सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रीवेंशन के डायरेक्टर जिओंग इउन केओंग का कहना है कि वायरस दोबारा एक्टिव हो भी सकता है, लेकिन फिलहाल इसकी जांच की जा रही है। वहीं कोरिया के एक प्रोफेसर ने तो यहां तक कह दिया है कि ये तो सिर्फ शुरुआत है, आंकड़े तो अभी और बढ़ेंगे।

चीन में भी मिले थे 61 मामले :

आपको याद होगा 4 दिन पहले ही चाइना से भी एक ऐसी ही रिपोर्ट सामने आई थी। जिसमें कुल 63 नए मामले पॉजिटिव बताए गए। हालांकि चाइना ने इनमें से 2 स्थानीय लोगों को संक्रमित माना था। शेष 61 लोग दूसरे देशों से आए हुए बताए गए। कहीं ऐसा तो नहीं कि ये सभी मरीज दोबारा एक्टिव हुए वायरस के शिकार हों!

क्योंकि चीन पहले से ही कोरोना को लेकर दुनिया से तथ्य छुपाते आ रहा है। ऐसे में चीन की इन बातों में कितनी सत्यता है, ये तो आने वाला समय ही बताएगा। फिलहाल इस तरह के संकेतों ने हेल्थ एक्सपर्ट्स की नींद जरूर उड़ा दी है।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *