राजस्थान: क्या प्रदेश में फिर से लग सकता है लॉकडाउन? CM गहलोत ने फिर चेताया

राजस्थान: क्या प्रदेश में फिर से लग सकता है लॉकडाउन? CM गहलोत ने फिर चेताया

Jaipur. प्रदेश में कोरोना की सख्त गाइड लाइन्स के बावजूद लोग लापरवाही बरतने से बाज नहीं आ रहे। ऐसे में सरकार कोई और ठोस कदम भी उठा सकती है। शुक्रवार को प्रदेश के मुखिया CM अशोक गहलोत ने बताया कि कोरोना की इस दूसरी लहर में आ रहे अधिकांश मरीज बिना लक्षणों वाले यानी असिंप्टोमैटिक asymptomatic हैं। सीएम ने कहा कि पहले मरीज में लक्षण दिखते थे, जिससे उनकी पहचान कर क्वारंटीन करना आसान था। ऐसे में बिना लक्षणों वाले मरीजों की पहचान, बिना टेस्ट के मुश्किल है।

प्रोटोकॉल की नहीं हो रही पालना

असिंप्टोमैटिक मरीज जानकारी के अभाव में बिना प्रोटोकॉल का पालन किए घूमते रहते हैं। जिससे दूसरे लोगों में तेजी से संक्रमण फैलता है। ऐसी परिस्थिति में सभी लोगों को कोविड प्रोटोकॉल का गंभीरता से पालन करना चाहिए, लेकिन आमजन कोविड प्रोटोकॉल के पालन में लापरवाही कर रहे हैं।

इस रफ्तार से बढ़े मरीज

प्रदेश में 16 फरवरी को एक दिन में कोरोना के सिर्फ 60 नए मामले आए थे लेकिन कल 1 अप्रेल को 1350 मामले आए हैं। 23 फरवरी को कुल एक्टिव केस 1195 रह गए थे लेकिन 1 अप्रेल को ये संख्या बढ़कर 9563 हो गई है। 24 फरवरी को केस डबलिंग टाइम 2521 दिन था जो अब 270 दिन हो गया है।

क्या पहले से खतरनाक हुआ कोरोना?

सीएम ने कहा कि अभी कोरोना वायरस पहले से खतरनाक हो गया है। ऐसे में हम सभी को गंभीरता दिखानी होगी। वह सभी से मास्क लगाने, हाथ धोने एवं सोशल डिस्टैंसिंग बनाए रखने की अपील करते हैं साथ ही प्रोटोकॉल की सख्ती से पालना करें। थोड़ी सी लापरवाही भी किसी की जान जाने का कारण बन सकती है।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *