ब्लॉक CMHO ने सांसद किरोड़ीलाल मीणा पर लगाए धमकाने के आरोप, महवा में राजनीतिक विद्वेष आया सामने

ब्लॉक CMHO ने सांसद किरोड़ीलाल मीणा पर लगाए धमकाने के आरोप, महवा में राजनीतिक विद्वेष आया सामने

राज्य सभा सांसद किरोडीलाल मीणा ने शुक्रवार को महवा क्षेत्र का दौरा किया था। कोविड 19 के इस दौर में उन्होंने अस्पतालों का भी जायजा लिया। मगर शनिवार को ब्लॉक मुख्य चिकित्सा अधिकारी रमेशचंद बैरवा ने जिला कलेक्टर को एक शिकायत पत्र भेजा। जिसमें सांसद किरोड़ी लाल मीणा द्वारा उन्हें धमकाए जाने की बात कही है। जबकि स्थानीय बीजेपी पदाधिकारियों का आरोप है कि विधायक की शह पर अधिकारी कार्य में मनमर्जी एवं राजनीतिक द्वेषता के साथ काम करते हैं। इस संबंध में बीजेपी पदाधिकारियों की ओर से भी कलेक्टर को लिखित में शिकायत दी गई है। वहीं ब्राह्मण समाज में भी खासा रोष व्याप्त है।

नियम ताक पर, मनमर्जी लगा रहे ड्यूटी :

महवा बीजेपी जिला मंत्री हेमेंद्र तिवारी ने विधायक हुड़ला को उल्टे हाथ लेते हुए कहा कि जिन बीजेपी कार्यकर्ता पदाधिकारियों के लिए आज वह गलत शब्दों का इस्तेमाल कर रहे हैं। आज जब वह बीजेपी से अलग हो गए तो ये लोग उनके लिए बुरे हो गये। इस तरह की राजनीति ठीक नहीं है। उन्होंने विधायक से माफी मांगने की मांग की है। साथ ही बीसीएमएचओ से कोविड सेंटर में कोरोना वॉरियर्स की मनमर्जी ड्यूटी लगाने का विरोध करते हैं।

एक व्यक्ति जिसकी पत्नी घर पर कैंसर से लड़ाई लड़ रही हो, और पति कोरोना वॉरियर्स की ड्यूटी कर रहा हो, उसके बावजूद उसे क्वारेंटाइन होने तक का समय न देकर लगातार ड्यूटी कराते रहना बहुत ही निंदनीय है। डॉक्टर साहब कोरोना से न सही कम से कम ईश्वर से तो डरिए। हैरानी की बात है जब उनके यहां सांसद निरीक्षण करने पहुंचे तो उल्टे सांसद पर धमकाने के आरोप लगा डाले। यदि उनके पास इस बात का कोई सबूत है तो दिखाएं। नहीं तो कलेक्टर महोदय से मांग करते हैं कि इनके खिलाफ एक्शन लिया जाए।

बीजेपी ज़िला मंत्री हेमेंद्र तिवाड़ी ने आज विधायक हुड़ला के खिलाफ हल्ला बोल लाइव।

Posted by राजेन्द्र प्रधान महुवा on Sunday, 13 September 2020

हम भी परशुराम के वंसज हैं :

महवा विधानसभा क्षेत्र में काफी समय से जातिवाद को लेकर एक अंदरूनी माहौल बना हुआ था। इसको लेकर शनिवार को स्थानीय लोगों का आक्रोश फूट पड़ा और उन्होंने इसके लिए स्थानीय विधायक को जिम्मेदार ठहराते हुए कई गंभीर आरोप भी लगाए। राजस्थान ब्राह्मण सभा के प्रदेश मंत्री अभिषेक शर्मा ने कहा है कि स्थानीय विधायक द्वारा लगातार ब्राह्मण समाज को टारगेट बनाया जा रहा है। 2013 से आज 2020 तक आप देख लीजिए कितने गजेस्टेड अधिकारी ब्राह्मण लगाए? यहां तक की उन्होंने स्कूलों को भी नहीं बख्शा।

इसका अंदाजा आप इस बात से लगा सकते हैं कि विधानसभा में कितने प्रिंसिपल ब्राह्मण समाज से हैं। ये सब महज एक उदाहरण हैं जो बताते हैं कि क्षेत्र में किस प्रकार से ब्राह्मणों को टारगेट किया जा रहा है। अभिषेक ने यहां तक कह दिया कि महुआ को कश्मीर नहीं बनने देंगे। चाहे इसके लिए हमें शहीद क्यों न होना पड़े। इस दौरान अभिषेक शर्मा ने ये आरोप भी लगाया कि वह सब जानते हैं कि विधायक किस तरह से रात को अधिकारियों को बुलाकर प्र​ताड़ित करते थे।

ब्राह्मण समाज के प्रकाश वशिष्ठ ने भी समाज विशेष के साथ राजनीतिक दबाव में आकर इस प्रकार की कार्यशैली को गलत बताया है। उन्होंने कहा कि इस प्रकार का रवैया स्वीकार्य नहीं किया जाएगा। राजनीतिक विद्वेष के चलते समाज विशेष को टारगेट करना उचित नहीं है।

विधायक पर है ठगी का मामला :

वहीं पूर्व विधानसभा प्रत्याशी राजेंद्र मीणा ने कहा कि पिछले काफी समय से अस्पताल में अनियमितता एवं राजनीतिक द्वेषभावना से कार्य किये जाने की शिकायतें मिल रही थीं। यहां मौजूद कोविड सेंटर में चिन्हित स्टाफ को बार-बार लगाया जाना, उनकी कार्यशैली पर प्रश्रचिन्ह खड़े करता है। साथ ही उन्होंने कहा कि अस्पताल में गंदगी को लेकर यदि उनसे कुछ कहा जाए तो वह कलेक्टर से शिकायत करने पहुंच जाते हैं। ये सब राजनीतिक दवाब के चलते किया जा रहा है। स्थानीय विधायक को लेकर उन्होंने कहा वह दलित कार्ड खेल रहे हैं। उन पर बैरवा समाज के ही एक व्यक्ति से नौकरी लगाने की एवज में लाखों की ठगी करने का केस दर्ज है। ऐसे और भी कई सबूत उनके पास मौजूद हैं।

ये वीडियो भी देखें : https://m.facebook.com/story.php?story_fbid=2063565373776281&id=100003685146414

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Live Updates COVID-19 CASES

Support Akhiri Ummeed

Help us keep the website running. Help us keep the narrative.

Pay anything from ₹ 10 to ₹ 10,000