हाउसिंग बोर्ड के मूर्ति अनावरण में ‘कांग्रेसी नेताओं’ के बीच ‘भाजपा विधायक’ को बैठना महंगा पड़ गया

हाउसिंग बोर्ड के मूर्ति अनावरण में ‘कांग्रेसी नेताओं’ के बीच ‘भाजपा विधायक’ को बैठना महंगा पड़ गया

जयपुर. मानसरोवर स्थित द्वारकादास गार्डन में हाउसिंग बोर्ड की ओर से आयोजित स्वर्ण जयंती समारोह एवं मूर्ति अनावरण कार्यक्रम में भाजपा के स्थानीय विधायक को मंच पर बैठना उस समय महंगा पड़ गया जब सीएम ने उन्हीं के नाम के साथ भाजपा सरकार पर चुटकी ले ली।

दरअसल हुआ ​यूं कि शनिवार को मंडल के संस्थापक एवं स्वतंत्रता सेनानी द्वारकादास पुरोहित की मूर्ति का अनावरण करने सीएम अशोक गहलोत यहां पहुंचे थे। मंच पर मौजूद कांग्रेसी नेता मंत्रियों के बीच बीजेपी के स्थानीय विधायक अशोक लाहोटी भी कार्यक्रम में शामिल होने के लिए पहुंचे थे। जब सीएम गहलोत अपना उद्बोदन दे रहे थे तो इसी बीच उन्होंने जनता को पिछली भाजपा सरकार की हाउसिंग बोर्ड की कार्यप्रणाली याद दिला दी।

उन्होंने बताया कि भाजपा सरकार में हाउसिंग बोर्ड के बारे में कई प्रकार की बातें सामने आईं। उस दरम्यान 22 हजार मकान बनते रहे, बिके नहीं फिर भी बनते रहे। ये अपने आप में एक जांच का विषय है। इसी को लेकर सीएम गहलोत ने कहा कि ये तो अब लाहोटी ही बता सकते हैं कि वह बिना बिके भी क्यों बनते रहे। इस बात पर पूरा पांडाल हंसी ठहाकों के साथ गूंज उठा। लाहोटी भी फीकी हंसी के साथ मुस्कराते दिखे। इससे पहले मंत्री धारीवाल ने भी लाहोटी को सुधरने की बात कही थी।

सीएम के जाने के बाद लाहोटी ने मीडिया से रूबरू होते हुए जबाव दिया कि यह सरकार का कार्यक्रम था और यहां की सरकार हम हैं तो यह हमारा कार्यक्रम हुआ। इसलिए वह इस कार्यक्रम में आए। वहीं उन्होंने धारीवाल की बात को लेकर मुस्कुराते हुए कहा कि वह उनसे उम्र में बड़े हैं, बड़े भाई के नाते वह कुछ भी बोल सकते हैं।

इस अवसर पर यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल, अमीन कागजी, बोर्ड के अध्यक्ष भास्कर ए सावंत एवं आयुक्त पवन अरोडा सहित कई कांग्रेसी नेता एवं ​अधिकारी मौजूद थे।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *