भाजपा को पुराने रोग ठीक करने के लिए ही लाया गया है : रविशंकर

भाजपा को पुराने रोग ठीक करने के लिए ही लाया गया है : रविशंकर

जयपुर. भाजपा ने नागरिकता संशोधन कानून के समर्थन में आज विशाल पैदल मार्च निकाला। यह पैदल मार्च भाजपा मुख्यालय से शहीद स्मारक होते हुए सिविल लाइन फाटक पहुंचा। उसके बाद एक प्रतिनिधिमंडल ने जाकर राज्यपाल को ज्ञापन सौंपा। जिसमें सीएए को राजस्थान में लागू करने की मांग की गई।

इस पैदल मार्च व धरना-प्रदर्शन में भाजपा के तमाम दिग्गज शामिल हुए। जिनमें केन्द्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद, गजेन्द्र सिंह शेखावत, कैलाश चैधरी पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व प्रदेश प्रभारी अविनाश राय खन्ना, भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डाॅ. सतीश पूनियां, प्रदेश संगठन महामंत्री चन्द्रशेखर, पूर्व प्रदेशाध्यक्ष डाॅ. अरुण चतुर्वेदी, अशोक परनामी, प्रतिपक्ष उपनेता राजेन्द्र राठौड़, प्रदेश महामंत्री भजनलाल शर्मा, विधायक अशोक लाहोटी, वीरमदेव सिंह, प्रदेश मंत्री मुकेश दाधीच, पूर्व सांसद ओंकार सिंह लखावत, पूर्व मंत्री वासुदेव देवनानी, पूर्व विधायक ज्ञानदेव आहूजा समेत हजारों की संख्या में पदाधिकारी व कार्यकर्ता शामिल हुए। भाजपा के इस विशाल पैदल मार्च और धरना-प्रदर्शन में हजारों की संख्या में कार्यकर्ताओं ने भाग लिया।

केन्द्रीय मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि भाजपा को पुराने रोग ठीक करने के लिए ही लाया गया है। इस दौरान उन्होंने कहा धारा 370, राम मंदिर, तीन तलाक और नागरिकता संशोधन कानून जैसे पुराने रोगों को देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सरकार ने ठीक किया है। प्रसाद ने कहा कि पाक, बांग्लादेश और अफगानिस्तान में धार्मिक आधार पर हिंदुओं को प्रताड़ित किया जाता है, उनको हमने नागरिकता देने का प्रयास किया है। वहां के मुस्लिम को यहां नागरिकता की जरूरत नहीं है, भारत का मूल निवासी चाहे हिंदू हो, मुस्लिम हो, सिख हो, इसाई हो या और कोई संप्रदाय का हो उनको नागरिकता से हमें कोई ऐतराज नहीं।

भाषण की मुख्य बातें :

— 370 के बाद आज कश्मीर की जनता खुश है.
— देश का विभाजन धर्म के आधार पर होना गलत था.
— कांग्रेस को याद होगा नेहरू और लियाकत अली खान के मध्य एक पैक्ट हुआ था. कि पाकिस्तान में हिंदु शरणार्थियों का सम्मान किया जाएगा और हिंदुस्तान में पाकिस्तान से जो शरणार्थी आए हैं, उनका सम्मान किया जाएगा और भाजपा ने इनका सम्मान किया है।
— सीएम रहते हुए राजे ने अल्पसंख्यकों के लिए कई कार्य किए.
— नागरिकता संशोधन कानून को एनआरसी से जोड़ना गलत है. एनआरसी अलग है इसके बारे में अलग ढांचा बनेगा उसकी अलग प्रक्रिया होगी और आवश्यकता पड़ी तो अलग से चर्चा भी होगी।
— 1971 में राजीव गांधी ने 3-4 लाख लोगों को नागरिकता दी थी. 1971 में जब बांग्लादेश बना था, तब लाखों लोगों को नागरिकता मिली थी। उस दौरान इंदिरा गांधी प्रधानमंत्री थी, जब श्रीलंका के विस्थापित आए थे .

प्रसाद ने कहा कि हम भाजपा वाले हैं हम देश के लिए जीते हैं और कुछ लोग वोट के लिए जीते हैं, यह हममें अंतर हैं। आज हमारी सरकार है किसी को गोली नहीं लगी और जो अलगाववाद की बातें करते हैं, वो आज जेल की हवा खा रहे हैं। 370 के बाद आज कश्मीर की जनता खुश है। कश्मीर भारत का गौरवशाली अंग हैं। उन्होंने कहा कि राम मंदिर का फैसला सर्वसम्मति से आया है। देश का विभाजन धर्म के आधार पर होना गलत था। उन्होंने कहा कि आज मुस्लिम हमारे देश में राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति, न्यायाधीश बनते हैं तो अच्छा लगता है, हम उन्हें सम्मान देते हैं और आगे भी देते रहेंगे।

पूर्व सीएम और राष्ट्रीय उपाध्यक्ष वसुंधरा राजे का जिक्र करते हुए कहा कि वसुन्धरा राजे जब राजस्थान की सीएम थीं। तब उन्होंने अल्पसंख्यकों के लिए कई कार्य किए। विरोध करने वालों ने कभी विस्थापितों की पीड़ा नहीं देखी है।

लोकतंत्र में हर व्यक्ति को विरोध करने का अधिकार है, जिसका हम सम्मान करते हैं। लेकिन जो देश को तोड़ने की बात करेगा, टुकड़े टुकड़े गैंग बनेगा जो कभी बर्दाश्त नहीं होगा, ऐसे लोग हिंसा करेंगे तो उन पर सख्त कार्रवाई होगी। उन्होंने कहा कि यह 1947 का हिंदुस्तान नहीं है, यह 2019 का हिंदुस्तान है, हम लोग अब बहुत मजबूत हैं।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *