इस बार बिहार में मनेगी दो बार दिवाली, कोरोना के बीच हुआ बिहार चुनावों का ऐलान

इस बार बिहार में मनेगी दो बार दिवाली, कोरोना के बीच हुआ बिहार चुनावों का ऐलान

Bihar Assembly Elections 2020 Dates LIVE: देश में सरकारें कोरोना का भरपूर फायदा उठा रही हैं। बात केंद्र सरकार की हो या फिर राज्य सरकारों की। कोई भी इस मौके को हाथ से जाने नहीं देना चाहते। कोरोना के अलावा बाढ़ जैसी आपदा का सामना कर रहे बिहार में आज विधानसभा चुनावों का ऐलान हो ही गया। चुनाव आयोग ने आज इसकी घोषणा करते हुए 3 चरणों में इन्हें पूरा कराने की बात कही है। वहीं आखिरी मतदान के 3 दिन बाद ही रिजल्ट घोषित कर दिया जाएगा।

चुनाव से संबंधित अहम बातें :

चुनाव आयोग ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के जरिए बताया कि बिहार में 3 चरणों के तहत चुनाव संपन्न कराए जाएंगे।

पहला चरण — 28 अक्टूबर, 2020
दूसरा चरण — 3 नवंबर, 2020
तीसरा चरण — 7 नवंबर, 2020

पहले चरण में 71 सीटों पर मतदान होगा।
दूसरे चरण में 94 सीटों पर मतदान होगा।
तीसरे चरण में 78 सीटों पर मतदान कराया जाएगा।

नामांकन ऑनलाइन भरे जा सकते हैं।
नामांकन के दौरान दो से अधिक वाहन नहीं होंगे।
5 से अधिक लोगों के साथ घर-घर चुनाव की अनुमति नहीं।

दो बार मनेगी दिवाली :

भारत में इस साल दिवाली 14 नवंबर को मनाई जाएगी। मगर बिहार विधानसभा के परिणाम 10 नवंबर को ही आ जाएंगे। ऐसे में 10 नवंबर को भी प्रदेश में माहौल दिवाली जैसा ही रहने वाला है। भले जीत किसी भी पार्टी की क्यों न हो, जीत का जोश एक सा दिखेगा। यही कारण है कि इस बार बिहार दो बार दिवाली मनाएगा।

चुनाव आयोग ने लगाए कड़े नियम :

मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोरा की मानें तो उनका कहना है कि कोरोना को देखते हुए व्यवस्था इस प्रकार से की गई है कि 1 बूथ पर केवल 1 हजार वोटर्स ही वोट डाल सकेंगे। इस दौरान सेनेटाइजर, 40 लाख मास्क और करीब 6 लाख फेस शील्ड का इंतजाम किया गया है। मतदान का समय सुबह 7 से शाम के 6 बजे तक का रखा गया है।

बड़ा सवाल, नियमों की मॉनिटरिंग कैसे?

बिहार विधानसभा चुनावों में चुनाव आयोग ने शर्तें तो बड़ी-बड़ी लगा दीं। मगर इनकी अनुपालना की मॉनिटरिंग किस प्रकार होगी। ये एक बड़ा सवाल है। चूंकि चुनावों के दौरान पार्टी एवं कार्यकर्ताओं का उत्साह चरम पर होता है। ऐसे में उन्हें काबू कर पाना सामान्य दिनों में मुश्किलभरा रहा है तो अब कोरोना के समय उन पर किस तरह से कंट्रोल किया जाएगा। इसकी एक बानगी आज सभी ने देख भी ली। किस प्रकार एक पार्टी की रैली में कोरोना के नियमों की धज्जियां उडती दिखाई दीं। सोशल डिस्टेंसिंग तो दूर लोगों के पास मास्क तक नहीं थे।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *