बीजेपी सांसद की गाड़ी पर हमला, न कलक्टर ने फोन उठाया न समय पर पहुंची पुलिस

बीजेपी सांसद की गाड़ी पर हमला, न कलक्टर ने फोन उठाया न समय पर पहुंची पुलिस

भरतपुर. राजस्थान में गहलोत सरकार की एक टैगलाइन ‘हम सतर्क हैं’ की बानगी कल रात को उस वक्त देखने मिल गई, जब एक सांसद की गाड़ी पर जानलेवा हमला हुआ। गुरुवार की रात एक सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का निरीक्षण करके लौट रही BJP सांसद रंजीता कोली पर अज्ञात बदमाशों ने हमला बोल दिया। गाड़ी पर हुए ताबड़तोड़ हमले के दौरान सांसद बेहोश हो गईं। उन्हें अस्पताल ले जाया गया।

ये रहा घटनाक्रम

सांसद अपना दौरा खत्म करके रात को करीब साढ़े 11 बजे अपने घर बयाना जा रही थीं। तभी रास्ते में धरसौनी गांव के पास करीब 5 बदमाशों ने सांसद की कार को रुकवाने का प्रयास किया। आरोप है कि इसी दौरान बदमाशों ने अचानक सरिए से कार पर हमला कर दिया। वहीं पत्थर भी फैंके। जिससे गाड़ी के शीशे टूट गए। हालांकि गाड़ी में मौजूद गार्ड एवं अन्य लोगों ने सांसद का बचाव किया, लेकिन वह बेहोश हो गईं, जिन्हें भरतपुर के सरकारी अस्पताल आरबीएम से इलाज के कुछ देर बाद छुट्टी दे दी गई।

MP ने ट्वीट कर कहा —

सांसद के आधिकारिक ट्विटर हैंडल के अनुसार ‘हमला इतना भयावह था कि सांसद बेहोश हो गईं। पुलिस से संपर्क किया गया, लेकिन पुलिस को घटनास्थल तक पहुंचने में 45 मिनट लग गए। सांसद की टीम ने ये भी आरोप लगाया कि भरतपुर के डीएम को लगातार फोन करने के बाद भी उनकी तरफ से फोन नहीं उठाया गया।

3 दिन पहले सीएम को लिखा पत्र

रंजीता कोली ने बाद में कहा कि ‘मेरी किसी से रंजिश नहीं है, लेकिन अगर मेरे पास सुरक्षा गार्ड नहीं होते तो मैं जिंदा नहीं होती।’ बता दें कि 3 दिन पहले ही सांसद ने अपने क्षेत्र में RT-PCR टेस्ट कम होने की शिकायत की थी। इसको लेकर एक पत्र सीएम अशोक गहलोत को लिखा गया था। याद रहे जिस डॉक्टर ने सांसद को टेस्ट कम करने की बात का खुलासा किया था, अगले ही दिन सरकार ने उस डॉक्टर को भी एपीओ कर दिया था।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *