भरतपुर: कलेक्टर ने महिलाओं को घूंघट प्रथा खत्म करने की दिलाई शपथ, महिलाओं को किया सम्मानित

भरतपुर: कलेक्टर ने महिलाओं को घूंघट प्रथा खत्म करने की दिलाई शपथ, महिलाओं को किया सम्मानित

भरतपुर स्थित यूआईटी ऑडिटोरियम में मंगलवार को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के उपलक्ष्य में भव्य कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि जिला कलेक्टर नथमल डिडेल और न्यायिक अधिकारी सहित जिला पुलिस अधीक्षक मौजूद रहे। इस दौरान जिले की विभिन्न पंचायत समितियों में आशा सहयोगिनियों को सर्वश्रेष्ठ कार्य करने पर जिला कलेक्टर द्वारा सम्मानित किया गया। इस दौरान सांस्कृतिक कार्यक्रम का भी आयोजन किया गया। जिसमें राजस्थानी लोक नृत्य के साथ विभिन्न प्रस्तुतियां महिलाओं द्वारा दी गईं।

कार्यक्रम के दौरान जिला कलेक्टर ने ऑडिटोरियम में मौजूद सभी महिलाओं को घूंघट प्रथा खत्म करने की शपथ दिलाई। 8 मार्च को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के उपलक्ष्य में संपूर्ण भरतपुर जिले में जिला प्रशासन एवं महिला अधिकारिता विभाग भरतपुर के द्वारा 3 मार्च से 8 मार्च तक अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस सप्ताह के रूप में मनाने की शुरुआत की गई। इस वर्ष अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस की थीम- ‘मैं जनरेशन इक्वेलिटी: महिलाओं के अधिकारों को महसूस कर रही हूं’ रखी गयी है।

इस अवसर पर सांस्कृतिक कार्यक्रम में भाग लेने वाली महिलाओं एवं बालिकाओं के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य करने वाली संस्थाओं एवं महिलाओं का सम्मान का सम्मान किया गया। साथ ही जिलास्तरीय साथिन पुरस्कार, विभिन्न क्षेत्रों में जिले का नाम रोशन करने वाली बालिकाओं का सम्मान, आत्मरक्षा प्रशिक्षण कार्यक्रम एवं बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना के अंतर्गत मुद्रित कैलेंडर का विमोचन किया गया।

इस कार्यक्रम के पश्चात सप्ताह भर में प्रतिदिन विभिन्न कार्यक्रम होंगे। इनमें चुप्पी तोड़ो दिवस, बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ, बाल विवाह रोकथाम एवं महिला शक्ति केंद्र पर कार्यशाला घूंघट की समाप्ति पर कार्यशाला रैली, हस्ताक्षर अभियान, किशोरी बालिका मेला एवं शैक्षणिक भ्रमण, खेलकूद प्रतियोगिताएं, सखी चौपाल आदि शामिल हैं।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *